भोपाल आया जिंदगी का टीका, भोपाल संभाग के 8 जिलों को मिली 94 हजार वैक्सीन

आखिर लंबे इंतजार के बाद कोरोना के वैक्सीन की पहली खेप बुधवार को राजधानी भोपाल पहुंच ही गई। सुबह 11 बजे मुंबई से आने वाली इंडिगो की फ्लाइट 6E662 जैसे ही राजा भोज एयरपोर्ट पर लैंड हुई। अचानक ही सबके दिलों की धड़कनें बढ़ गईं। कड़ी सुरक्षा के बीच वैक्सीन को एयरपोर्ट से बाहर लाया गया। जिसके बाद इसे तत्काल कमला पार्क स्थित सेंटर भेज दिया गया।

पहली खेप में भोपाल संभाग के 8 जिलों के लिए 94 हजार डोज भेजे गए हैं, जिसमें से राजधानी भोपाल के लिए 36,230 डोज हैं, जिन्हें यहां कार्य कर रहे स्वास्थ्य कर्मियों को लगाया जाएगा। स्वास्थ्य कर्मियों के रजिस्ट्रेशन की कार्यवाही जिला प्रशासन द्वारा पहले कर ली गई है।

कमला पार्क में बना स्टोरेज सेंटर :

कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन और कोवीशील्ड के लिए स्टोरेज सेंटर कमला पार्क में बनाया गया है। पहली खेप में पहुंची वैक्सीन में भोपाल के अलावा संभाग के सात अन्य जिलों को भी वैक्सीन भेज दी गईं, जिनमें बैतूल के 10780, विदिशा के 9900, होशंगाबाद के 9710, सीहोर के 9550, रायसेन के 8300, राजगढ़ के लिए 5790 और हरदा के लिए 3100 डोज शामिल हैं।

इंसुलेटेड वैन के जरिए पहुंची स्टोरेज सेंटर :

सुबह 11.15 पर आने वाली इंडिगो की फ्लाइट बुधवार को सुबह 10.56 पर ही आ गई। इसके बाद वैक्सीन को कोविड वैक्सीनेशन अधिकारी डॉ. संतोष शुक्ला की निगरानी में स्टोरेज सेंटर पर भेजा गया।

डॉ. संतोष शुक्ला ने बताया कि इंसुलेटेड वैन में 7 डिग्री का तापमान बनाए रखते हुए इसे स्टोरेज सेंटर लाया गया है।

चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने लिया जायजा :

इस अवसर पर स्टोरेज सेंटर पहुंचे मप्र के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने वैक्सीन को स्टोर करने की पूरी व्यवस्था को देखा। इसके बाद वैक्सीन को स्टोरेज सेंटर से सभी जिलों के लिए रवाना कर दिया गया।

5 की जगह 14 दिन में लगेगा सभी को टीका :

Agnito Today को जानकारी देते हुए डॉ. संतोष शुक्ला ने बताया कि टीकाकारण के लिए पहले 5 दिन निर्धारित किए गए थे, लेकिन अब 14 दिन टीकाकरण अभियान चलेगा। यानि एक दिन छोड़कर इसे आयोजित किया जाएगा। इस तरह 28 दिनों में भोपाल के सभी हेल्थ वर्कर को टीका लगा दिया जाएगा।

यह भी जरूर पढ़ें-स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट : शिफ्टिंग के नाम पर कत्ल किए जा रहे 850 हरे-भरे वृक्ष

 Latest Stories