गणतंत्र दिवस पर भी कैद रहेंगे शहीद-ए-आजम भगत सिंह 

देश भले ही आजादी के बाद 72वां गणतंत्र दिवस मना रहा हो, लेकिन करोंद चौराहे पर स्थित भगत सिंह की प्रतिमा नेताओं के होर्डिंग से आजाद नहीं हो सकी है। भगत सिंह की यह प्रतिमा साल में गिने चुने दिन ही नेताओं के होर्डिंग से आजाद होती है। अक्सर यहां पर रैली और भूमिपूजन के होर्डिंग का एक कैदखाना सा बनकर तैयार हो जाता है, जिसके पीछे देश की आजादी में अहम योगदान निभाने वाले भगत सिंह कैद होकर रह जाते हैं। 

बिना होर्डिंग हटाए ही निगम ने की धुलाई और पुताई :
मामला करोंद के मुख्य चौराहे का है। यहां बनी रोटरी पर शहीद-ए-आजम भगत सिंह की प्रतिमा प्रतिष्ठित है। 26 जनवरी को देखते हुए गत दिनाें नगर निगम की टीम रोटरी की सफाई और प्रतिमा को पानी से धोने के लिए पहुंची। लेकिन यहां के चौराहे की शोभा बढ़ा रहे होर्डिंग को उतारने में निगम की टीम को पसीना आ गया। होर्डिंग हटाए बिना प्रतिमा के आसपास की सफाई संभव नहीं है।

सूत्र बताते हैं कि मामला जब नगर निगम के वरिष्ठ अधिकारियों तक पहुंचा तो उन्होंने होर्डिंग के बीच से घुसकर प्रतिमा को साफ करवाने की बात अमले से कही। बाद में रोटरी की सफाई बगैर होर्डिंग उतारे कर दी गई। 


पहले भूमिपूजन और अब रैली का होर्डिंग :
केशव नीडम मामले की सुनवाई से पहले तक रोटरी के आसपास भूमिपूजन के होर्डिंग लगे थे। केशव नीडम मामले की सुनवाई के बाद धारा 144 लागू होने के बाद भूमिपूजन कार्यक्रम निरस्त कर दिया गया। कार्यक्रम निरस्त होने के बाद भी कुछ दिन तक भूमिपूजन के होर्डिंग्स इस जगह पर लगे रहे। 

वहीं 26 जनवरी को स्थानीय भाजपा नेताओं द्वारा आयोजित वाहन रैली कार्यक्रम के होर्डिंग अब इस रोटरी के आसपास लगा दिए गए हैं। जिसके कारण स्थानीय लोगों में रोष बना हुआ है। 

गणतंत्र दिवस पर कैसे होगा माल्यार्पण : 
स्थानीय लोगोंं के अनुसार यहां के स्थानीय नेता सालभर में जो भी कार्यक्रम करते हैं। उस दौरान रोटरी को चारों ओर से होर्डिंग से ढंक देते हैं। मकर संक्रांति, 26 जनवरी, 15 अगस्त, कृष्ण जन्माष्टमी, दीपावली और दशहरे के अलावा क्षेत्र के भूमिपूजन कार्यक्रम के दौरान भी इन होर्डिंग्स को यहां लगा दिया जाता है।  

स्थानीय रहवासियों के अनुसार यदि यही स्थिति रही तो भगत सिंह की प्रतिमा पर 26 जनवरी को माल्यार्पण किस तरह किया जाएगा? पहले ही रोटरी के आसपास सफाई न कर शहीद का अपमान किया जा चुका है। माल्यार्पण न हुआ तो यह गणतंत्र दिवस के अवसर पर बहुत ही दुर्भाग्य पूर्ण घटना होगी।

सफाई करवाई है होर्डिंग भी हटाएंगे : 
इस पूरे मामले पर जब जोन-17 के एएचओ आसिफ नजीर से बात की गई तो उन्होंने बताया कि पूरे मामले में प्रतिमा के आसपास सफाई करवा दी गई है और पुताई भी करवाई है। यदि आसपास अतिक्रमण है तो उस पर भी कार्रवाई करवाई जाएगी। गणतंत्र दिवस से पहले भगत सिंह की प्रतिमा को अतिक्रमण से मुक्त करवाया जाएगा। 

 Latest Stories